शारीरिक दूरी बनाकर पूर्व राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन की मनाई गई जयंती

जिले में इसबार कोविड-19 के कारण सादगी के साथ पूर्व राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती शनिवार को मनाई गई। इस दौरान सरकारी स्कूलों में वर्चुअल तरीके से छात्रों ने अपने शिक्षकों को सेल्फी व संदेश भेजकर शुभकामनाएं दीं।...

शारीरिक दूरी बनाकर पूर्व राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन की मनाई गई जयंती

सिवान । जिले में इसबार कोविड-19 के कारण सादगी के साथ पूर्व राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती शनिवार को मनाई गई। इस दौरान सरकारी स्कूलों में वर्चुअल तरीके से छात्रों ने अपने शिक्षकों को सेल्फी व संदेश भेजकर शुभकामनाएं दीं। भगवानपुर हाट के सुघरी स्थित आरके बीएड कालेज में पूर्व राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती शारीरिक दूरी के तहत मनाई गई। इस मौके पर सहायक प्राचार्य आरके सोनी, सारनाथ, डॉ. ग्यास सरवर, सुशील कुमार सिंह, राजन कुमार प्रसाद, शकुंतला कुमारी आदि उपस्थित थी। वहीं शहर के गांधी मैदान स्थित सिटी मांटेसरी स्कूल में प्राचार्य अशोक कुमार सिंह के नेतृत्व में शारीरिक दूरी के तहत पूर्व राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती मनाई गई।

इस मौके पर कई शिक्षक उपस्थित थे। वहीं महाराजगंज उमा शंकर चंपा देवी डीएवी पब्लिक स्कूल महराजगंज में शिक्षक दिवस बहुत ही सादगी के साथ मनाया गया। इस अवसर पर क्षेत्रीय निदेशक एसके झा तथा मैनेजर रामशीष राय, चेयरमैन सुगेंद्र सिंह ने प्राचार्य और शिक्षकों को बधाई दी। जीरादेई प्रखंड क्षेत्र के तितरा गांव में राष्ट्र सृजन अभियान के राष्ट्रीय सचिव ललितेश्वर कुमार के नेतृत्व में पूर्व राष्ट्रपति डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती मनाई गई।

मौके पर राष्ट्रीय सचिव ललितेश्वर कुमार, जिलाध्यक्ष सह अवकाश प्राप्त प्रधानाध्यापक अशोक राय, चितरंजन राय,मनोज कुमार,जयप्रकाश पटवा, दीपक कुमार सोनी, छोटू कुमार वर्मा, भाजपा नेता प्रमोद राय तथा शानू राय आदि उपस्थित थे। बसंतपुर के आदर्श राजकीय मध्य विद्यालय में शनिवार की संध्या राष्ट्रपति ड़ॉ. राधाकृष्ण की जयंती उनके तैल चित्र पर माल्यार्पण कर मनाई गई। काली पट्टी लगा शिक्षकों ने नई सेवा शर्त का किया विरोध जाटी, सिवान: जिले में विभिन्न शिक्षक संघ के आह्वान पर पंचायत, प्रखंड और जिला परिषद शिक्षकों ने शिक्षक दिवस के अवसर पर शनिवार को अपने विद्यालय में काली पट्टी लगाकर नई सेवा शर्त और अल्प वेतन वृद्धि पर विरोध जताया। काली पट्टी के साथ विरोध प्रदर्शन करने के दौरान शारीरिक दूरी का पालन करना वे नही भूले। प्रदर्शन कर रहे शिक्षकों ने कहा कि सरकार ने उनके साथ धोखा किया है।

बिना बातचीत किए एकतरफा सेवा शर्त लागू कर दी गई है जो उन्हें मंजूर नहीं है। ईपीएफ लागू करने में नियमों का पूर्णत: पालन नहीं किया गया है। पूर्ण उपार्जित अवकाश देने में भी कटौती की गई है। सरकार के इस रवैया से शिक्षक अपमानित महसूस कर रहे हैं। शिक्षक नेता महबूब आलम व बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के जिला संयोजक विनोद कुमार सिंह ने कहा कि मान सम्मान की लड़ाई तेज होगी। बता दें कि ये शिक्षक समान कार्य समान वेतन राज्य कर्मी का दर्जा और नियमित शिक्षकों की भांति सेवा शर्त लागू करने की मांग कर रहे हैं।